नवरात्री विशेष : सभ पूजा सँ बेसी प्रिय छैन्ह मैया क' इ चारि गोट प्रभावी मंत्र - मिथिला दैनिक

Breaking

सोमवार, 3 अक्तूबर 2016

नवरात्री विशेष : सभ पूजा सँ बेसी प्रिय छैन्ह मैया क' इ चारि गोट प्रभावी मंत्र

अपने यदि जीवन म' भय एवं बाधा सभ सँ परेशान छी, तेँ बुझु इ मंत्र अपनेक भय एवं बाधा दूर करत। एहि चारि गोट मंत्र केर उच्चारण सँ अपनेक जीवन भय एवं बाधारहित भ' अपने क' समस्त सुखक प्राप्ति कराओत। माँ दुर्गा केर स्वरूपक स्मरण करैत निम्न मंत्रक जाप नवरा‍त्रि केर अलावा प्रतिदिन कायल जाय तेँ बेसी सँ बेसी सफलताक प्राप्ति होयत। हरेक मनुष्य क' एहि प्रभावी मंत्रक जाप अवश्य करबाक चाही। नवरात्री म' माँ दुर्गा केर पूजा विशेष फलदायी होयत अछि। नवरात्री एक एहेन पाबनि अछि जाहि मेँ माता दुर्गा, महाकाली, महालक्ष्मी आर सरस्वती केर साधना करि जीवन क' सार्थक बनाओल जे सकैत अछि।

अपनेक लेल प्रस्तुत अछि माँ दुर्गा क' सँ बेसी प्रिय चारि गोट सरल मंत्र 

1.* बेसी सँ बेसी नवार्ण मंत्र 'ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चै' केर जाप जरूर करि।

2. *  सर्वमंगल मांगल्ये शिवे सर्वार्थ साधिके।
शरण्ये त्र्यंबके गौरी नारायणि नमोऽस्तुते।।

3. * ॐ जयन्ती मंगला काली भद्रकाली कपालिनी।
दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा नमोऽस्तुते।।

 4.* या देवी सर्वभूतेषु शक्तिरूपेण संस्थिता,
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

* या देवी सर्वभूतेषु लक्ष्मीरूपेण संस्थिता,
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

* या देवी सर्वभूतेषु तुष्टिरूपेण संस्थिता,
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

* या देवी सर्वभूतेषु मातृरूपेण संस्थिता,
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

* या देवी सर्वभूतेषु दयारूपेण संस्थिता,
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

* या देवी सर्वभूतेषु बुद्धिरूपेण संस्थिता,
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

* या देवी सर्वभूतेषु शांतिरूपेण संस्थिता,
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।