0

दरभंगा। 14 जनवरी। मणिकांत झा रचित नशामुक्ति अभियान क' समर्पित मैथिली गीत संग्रह “मुक्तिमणि” केर लोकार्पण कैल्ह शुक्रवार दिन दरभंगा के जिलाधिकारी डॉ. चंद्रशेखर सिंह द्वारा समाहरणालय केर सभागार मे समारोह पूर्वक कायल गेल।

मणिशृंखला केर नवम पोथीक लोकार्पण करैत जिलाधिकारी डॉ. चंद्रशेखर सिंह कहला कि मणिकांत झा केर ई पोथी सामाजिक चेतना जगेबामे सफल होयत। आगा ओ कहला कि हिनक रचना सभसे रू-ब-रू होयबाक अवसर भेटैत रहैत अछि। मणिकांत जी समाज केर ज्वलंत समस्या सभके अप्पन लेखनी केर माध्यम से समाधान प्रस्तुत करबाक काज सदैव करैत रहैत छैथ। मणिकांत जी द्वारा रचित पोथी 'वोटमणि' क' निर्वाचन आयोग स्वीप कार्यक्रम के लेल स्वीकृत केलन्हि संगहि हुनका अप्पन आईकॉन सेहो बनौलन्हि जे दरभंगा जिलाक लेल गौरव के गप अछि। एखन जखनकि पूरा बिहार मे नशामुक्ति अभियान केर हवा चली रहल अछि ऐना मे मणिकांत जी 'मुक्तिमणि' लिख एक बेर फेरसे अप्पन  उपस्थिति दर्ज केलन्हि अछि।

कार्यक्रम क' संबोधित करैत  उप विकास आयुक्त विवेकानंद झा कहला कि ई पोथी मानव शृंखला केर निर्माण मे बहुत लाभप्रद सिद्धि होयत। कार्यक्रम क' संबोधित करैत प्रख्यात चिकित्सक डॉ. ओमप्रकाश कहला कि मुक्तिमणि समाज क' नशामुक्त बनेबा मे कारगर सिद्ध होयत। वरीय उप समाहर्ता रविन्द्र दिवाकर कहला कि मणिकांत जी केर रचना सभ समाज मे जागरूकता आनबाक काज करैत अछि।डी आर डीए के निदेशक नरेश झा सेहो एहि काज के सराहना केलन्हि।

कार्यक्रम केर अध्यक्षता करैत शिक्षाविद व पूर्व पार्षद प्रो दिनेश झा कहला  कि 'मुक्तिमणि' मणिकांत झा द्वारा रचित ई पोथी जन जन मे पहुँच नशामुक्त समाज स्थापित करबा मे सहायक सिद्ध होयत। कार्यक्रम के  शुभारंभ गंधर्व झा द्वारा प्रस्तुत कायल गेल वेदध्वनि सँ भेल।


डॉ. जयप्रकाश चौधरी जनक केर संचालन मे चलल कार्यक्रम मे मुक्तिमणि पोथी के कैकोगीत क' दीपक कुमार झा आ डॉ. सुष्मा झा गाबिके लोग सभके झूमबा पर मजबूर क' देलन्हि। महात्मा गाँधी शिक्षण संस्थान द्वारा प्रकाशित एहि पोथी मे नशा मुक्ति अभियान के कुल 31 गीत अछि जेकि मैथिली केर पारंपरिक आर लोक धून पर आधारित अछि।

कार्यक्रम मे आगंतुक अतिथि सभक स्वागत मिथिला केर परंपरानुसार पाग -चादर से हीरा कुमार झा, जीवकांत मिश्र, विनोद कुमार झा, नंद किशोर यादव, विजय कांत झा , प्रवीण कुमार झा, श्रवण कुमार झा अभिमन्यु , सौरभ आदि लोकनि केलन्हि। 

मिथिला दैनिक क' समाचार ईमेल द्वारा प्राप्त करि :

Delivered by Mithila Dainik

मिथिला दैनिक (पहिने मैथिल आर मिथिला) टीमकेँ अपन रचनात्मक सुझाव आ टीका-टिप्पणीसँ अवगत कराऊ, पाठक लोकनि एहि जालवृत्तकेँ मैथिलीक सभसँ लोकप्रिय आ सर्वग्राह्य जालवृत्तक स्थान पर बैसेने अछि। अहाँ अपन सुझाव संगहि एहि जालवृत्त पर प्रकाशित करबाक लेल अपन रचना ई-पत्र द्वारा mithiladainik@gmail.com पर सेहो पठा सकैत छी।

 
#zbwid-2f8a1035