0



सभक बियाह भेलई यौ बाबु //
हमर लगन लगतै कहिया ...//२

नन्हका छौराछेबारी बनल बाप
दहेज बनल हमर अभिशाप
बड़का बटुआ बाबु सियौनेछी
हमर जिया किये तर्सौनेछी
सभक बियाह भेलई यौ बाबु //
हमर लगन लगतै कहिया ...//२ 

अगुआ घटक अबिते बाबु
भोजैतछि अहां सभ बेकाबू 
काका मंगैय चैर पचास
बाबु करैय पुरे पांचक आस
सभक बियाह भेलई यौ बाबु //
हमर लगन लगतै कहिया ...//२ 

घटक घुईर जाईत कहैय रहू कुमार
दहेज़ कारन जरल हमर कपार
केस पाकल दाढ़ी पाकल
चोट्क्ल हमर दुनु  गाल
सभक बियाह भेलई यौ बाबु //
हमर लगन लगतै कहिया ...//२ 

आब दाम कियो नै लगाबैय
बाबु देख अहांक झखरल माल
बाप बनल अछि पैकारी
बेट्टा बनल अछि मालजाल
सभक बियाह भेलई यौ बाबु //
हमर लगन लगतै कहिया ...//२ 

सगरो लागल अछि देखू
दहेज़ कुप्रथाक रोजगारी
बेट्टा भलही रही जाय कुमार
बापके लागल दहेजक बीमारी
सभक बियाह भेलई यौ बाबु //
हमर लगन लगतै कहिया ...//२ 

ऊमर बितल जाईय हमर
बुढ़ारीमें कोना करब घ्यूढारी
मोन करेय हमहू जईतौ कोहबर
बाबु छोडू इ दहेजक रोजगारी
सभक बियाह भेलई यौ बाबु //
हमर लगन लगतै कहिया ...//२ 

 रचनाकार:-प्रभात राय भट्ट

मिथिला दैनिक क' समाचार ईमेल द्वारा प्राप्त करि :

Delivered by Mithila Dainik

मिथिला दैनिक (पहिने मैथिल आर मिथिला) टीमकेँ अपन रचनात्मक सुझाव आ टीका-टिप्पणीसँ अवगत कराऊ, पाठक लोकनि एहि जालवृत्तकेँ मैथिलीक सभसँ लोकप्रिय आ सर्वग्राह्य जालवृत्तक स्थान पर बैसेने अछि। अहाँ अपन सुझाव संगहि एहि जालवृत्त पर प्रकाशित करबाक लेल अपन रचना ई-पत्र द्वारा mithiladainik@gmail.com पर सेहो पठा सकैत छी।

 
#zbwid-2f8a1035