पंकज जी पर गर्व करू. - मिथिला दैनिक

Breaking

मंगलवार, 29 सितंबर 2009

पंकज जी पर गर्व करू.

मैथिल आर मिथिलाक समस्त लेखक,पाठक आर शुभेच्छु से निवेदन अच्छी की पंकज- गोष्ठी से जुडू.पंकज जी से सम्बंधित सामग्री एत उपलब्ध ऐछ.पंकज जी मिथिला मूल के राष्ट्रीय धरोहर छलाह. सब मैथिल क ई बात क अभिमान होबाक चाहि.आई मिथिला के पैघ लेखक सब भी पंकज जी क बारे में किछु ने किछु जनबे करैत छैथ.पंकज जी पर शोध होबाक छाही.हुनकर व्यक्तित्व के आंच से दड्लाक कारने तत्कालीन किछ पैघ आलोचक हुनकर उपेक्षा केने चित.किंतु इतिहास बनावे वाला इतिहास पुरूष की बिस्रायल जाय सके छैथ?पंकज जी इतिहास क पत्र बनी चुकल छित. अतः निवेदन छे की सब गोटा मिली के पंकज जी पर योगदान करू.हुनका से सम्बंधित विवरण ई वेब-साईट पर उपलब्ध ऐछ-http://www.pankajgoshthi.org/