0

नई दिल्ली। 09 अक्टूबर। रेल मंत्रालय द्वारा अभूतपूर्व डेग उठबैत 36 बरखक पुरान प्रोटोकॉल क' खत्म क' देल गेल अछि, जाहिमे महाप्रबंधक सभक लेल जरूरी छल कि रेलवे बोर्ड केर चेयरमैन वा बोर्डक आन सदस्य सभक क्षेत्रीय यात्रा केर दौरान हुनकर आगमन आओर प्रस्थान के समय मौजूद रहे। 

मंत्रालय म' वीआईपी संस्कृति क' समाप्त करबाक लेल रेलवे बोर्ड द्वारा 1981 के एक सर्कुलर म' जारी निर्देश सभके समाप्त करबाक फैसला लेल गेल अछि, जाहिमे एहि तरहक प्रोटोकॉल छल। मंत्रालय द्वारा 28 सितंबर क' एक आदेश म' कहल गेल अछि कि रेलवे बोर्ड केर चेयरमैन वा बोर्डक आन सदस्य सभक यात्रा केर दौरान हवाईअड्डा वा रेलवे स्टेशन सभ पर अपनाओल जाय बला प्रोटोकॉल केर संबंध म' रेलवे क' जारी निर्देश आ  दिशानिर्देश सभके तत्काल प्रभाव स' वापस लेल जे रहल अछि। 
 
रेलवे बोर्ड के चेयरमैन अश्वनी लोहानी कहलनि कि कुनूभि अधिकारी क' आब कखनो गुलदस्ता वा उपहार नहि देल जायत। रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी सभके सिर्फ दफ्तरे म' नहि बल्कि घर पर सेहो एहि तरहक  पाबंदी केर पालन करे पड़त। 

सभ आला अधिकारी सभके अप्पन घर म' घरेलू कर्मचारी केर रूप म' लागल रेलवे के समस्त स्टाफ क' मुक्त करे पड़त। एक अधिकारी सभ कहलनि कि वरिष्ठ अधिकारी सभक घर पर करीब 30 हजार ट्रैकमैन काज करैत अछि। हुनका सभके सेवा पर वापस होयबाक आदेश देल गेल अछि।   मंत्रालय के सूत्र सँ पता चलल कि पछिला एक माह म' करीब छह स' सात हजार लोग काज पर लौटल छथि। 

रेल मंत्री पीयूष गोयल द्वारा वरिष्ठ अधिकारी सभसँ एक्जिक्यूटिव श्रेणी म' यात्रा करब छोड़ी स्लीपर आओर एसी थ्री-टीयर श्रेणी के डिब्बा म' आन यात्री सभक संग सफर करबाक लेल कहल गेल अछि। एहि वरिष्ठ अधिकारी सभमे रेलवे बोर्ड केर सदस्य, रेलवे जोन सभक महाप्रबंधक आओर सभ 50 मंडल केर रेलवे प्रबंधक शामिल अछि। 

मिथिला दैनिक क' समाचार ईमेल द्वारा प्राप्त करि :

Delivered by Mithila Dainik

मिथिला दैनिक (पहिने मैथिल आर मिथिला) टीमकेँ अपन रचनात्मक सुझाव आ टीका-टिप्पणीसँ अवगत कराऊ, पाठक लोकनि एहि जालवृत्तकेँ मैथिलीक सभसँ लोकप्रिय आ सर्वग्राह्य जालवृत्तक स्थान पर बैसेने अछि। अहाँ अपन सुझाव संगहि एहि जालवृत्त पर प्रकाशित करबाक लेल अपन रचना ई-पत्र द्वारा mithiladainik@gmail.com पर सेहो पठा सकैत छी।

 
#zbwid-2f8a1035