0

मुंबई। 10 जुलाई। कैल्हि रविदिन मैथिल सेवा संस्थान (पंजी.) 'महाराष्ट्र इकाई' द्वारा गरीब नेना सभक बिच अभ्यास पुस्तिका, कलम, कठपेन्सिल, कटर आओर रबर के वितरणक कार्यक्रम मैथिल बाहुल्य इलाका "अम्बे माता मंदिर कम्पाउंड, भाटपाड़ा, चंदनसार रोड, विरार (ईस्ट)" म' सफलता पूर्वक संपन्न भेल। एहि कार्यक्रम के तहत लगभग 250 गरीब नेना के बिच संस्था द्वारा अभ्यास पुस्तिका, कलम, कठपेन्सिल, कटर आओर रबर बाँटल गेल।

अपने क' बता दी मैथिल सेवा संस्थान नवयुवा/नवयुवती सभ द्वारा संचालित संस्था अछि, जे बलभद्रपुर, लहेरियासराय, दरभंगा सँ पंजीकृत अछि। देशक कोन - कोन सँ जुड़ल मैथिलक एहि संस्था केँ कैको राज्य म' सक्रीय टीम अछि आओर जाहि राज्य म' टीम नहि अछि ओहि राज्य दिस संस्था अपन डेग तेजी सँ बढ़ा रहल अछि। संस्थाक विस्तृत जानकारी एहिठाम उपलब्ध अछि: वेबसाइट, फेसबुक, ट्विटर, ब्लॉग, YouTube

कार्यक्रम क' सफल बनेबा म' श्री गोपाल झा, श्री सगुण मिश्र, श्री जितमोहन झा (जितू), श्री अखिल झा, श्री साजन झा, श्री उमेश कमती, श्री शम्भूनाथ झा, श्री बमशंकर झा, श्री अनिल मिश्र, श्री राजेश सिंह, श्री सुबोध झा, श्री राहुल ठाकुर, श्री रौशन झा, श्री उदय चौधरी, श्री अवसिक ठाकुर, श्री सुमन कुमार आओर श्री शंकर मिश्र जी कार्यक्रम स्थल पर उपस्थित भ' अपन सहयोग देलनि। 

एहि बाबत संस्थाक "राष्ट्रीय उपाध्यक्ष" श्री सगुण मिश्र जी सँ भेज गपक किछु अंश प्रस्तुत क' रहल छी। 

मैथिल सेवा संस्थान केँ की उद्देश्य अछि ?

सगुण मिश्रा : मैथिल सेवा संस्थान केँ मुख्य उद्देश्य मिथिलाक धरातल पर मैथिल आओर मिथिलाक लेल काज करब अछि। अपने बहुत रास संस्था सँ परिचित होएब, कुन संस्था कुन उद्देश्यसँ बनल आओर बनलाक बाद कते धरी पहुँचल इ जगजाहिर अछि। मैथिल सेवा संस्थान केँ युवा टीम अप्पन माटी लेल किछु करे चाहैत छथि आओर क' रहल छथि।

मैथिल सेवा संस्थान मुख्य रुपसँ 5 क्षेत्र  म' काज करबाक उद्देश्य सँ निरंतर आगू बढ़ी रहल अछि, जे निम्न प्रकारे अछि:

1. शिक्षा  :- (क) मिथिलाक कोण कोण म' शिक्षा केर व्यवस्था,  (ख) हाई स्कूल सँ विद्यार्थी सब लेल डिजिटल (कंप्यूटर) शिक्षा केर व्यवस्था, (ग) कौशल विकाश। 

2.  चिकित्सा  :- (क) गंभीर बीमारी म' निर्धन मैथिल केर सहयोग, (ख) मैथिल बाल /वृद्ध लेल चिकित्सा शिविर आर रक्तदान शिविर केर आयोजन, (ग) मिथिलाक कोण - कोण म' प्राथमिक चिकित्सा केर व्यवस्था। 

3. बेरोजगारी  :- (क) डिजिटल नौकरी के तलाश, (ख) बेरोजगारक लेल कौशल विकाश शिविर केर आयोजन, (ग) मिथिलांचल में व्यव्शाय क' बढ़ाबा। 

4. नारी  सशक्तिकरण  :- (क) गृह उद्योग कs बढ़ाबा, (ख) गृह उद्योग लेल प्रशिक्षण शिविर केर आयोजन, (ग) महिला कए  सम्मान देबाक लेल मैथिलक बीच जागरूकता शिविर केर आयोजन। 

5. मिथिला / मैथिल केर सम्मान / विकाश  :- (ग) मिथिला चित्रकला के बढ़ाबा, (ख) मैथिल विद्वान जन केर सम्मान, (ग) मिथिलाक धरोहर  पाबैन / संस्कृति केर रक्षा, (घ) प्राकृतिक आपदा सँ  प्रभावित मैथिलक सहायता। 

सगुण जी अहाँ मैथिल सेवा संस्थान केँ उद्देश्यक जतेक बिंदु बतेलहुँ देखल जाए तेँ मैथिल मिथिलाक नाम पर जतेक संस्था अछि सभक एतबे उद्देश्य रहैत अछि, कतेक संस्था अपन उद्देश्यक पूर्ति केलक ?

सगुण मिश्र : देखु कुन संस्था कुन उद्देश्य सँ बनल आओर ओ अपन उद्देश्यक पूर्ति केलक वा नहि ओहि विषय म' हम किछु नहि कहब, हाँ! मैथिल सेवा संस्थान के युवा सेनानी सभक बुलंद हौसला देखैत हम अपने क' विश्वास दिया सकैत छी जे ई संस्था एक - एक डेग उठबैत अपन सभ उद्देश्यक पूर्ति करत। 

सगुण जी अहाँ शुरू म' कहलहुँ जे "मैथिल सेवा संस्थान केँ मुख्य उद्देश्य मिथिलाक धरातल पर मैथिल आओर मिथिलाक लेल काज करब अछि।" तखन बिच - बिच म' सुनबाक लेल भेटैत अछि जे संस्थाक दिल्ली, मुंबई शहर सभक इकाई शहर सभ म' कार्यक्रम करैत अछि, जेना कैल्हिक कार्यक्रम क' लिआ ?

सगुण मिश्र : देखु मैथिल सेवा संस्थान के राष्ट्रीय टीम अछि, जाहि टीम क' संस्थाक सभ आमदनी जाएत अछि। राष्ट्रीय टीम मिथिला म' कुन काज करबाक अछि ओहिक निर्णय लैत सिर्फ मिथिला म' काज करैत अछि। एहिना संस्थाक क्षेत्रीय टीम अछि जेना महाराष्ट्र इकाई, दिल्ली इकाई, गुजरात इकाई वगैरह वगैरह। क्षेत्रीय टीम क' अपन क्षेत्र म' काज करबाक पूर्ण अधिकार देल गेल अछि, मुदा शर्त ई राखल गेल अछि कि क्षेत्रीय टीम यदि अपन क्षेत्र म' कुनू काज करत तेँ ओ फंड केँ जोगार अपन क्षेत्रीय टीमक आपसी सहयोग सँ करत। क्षेत्रीय टीम क' अपन क्षेत्र म' काज करबाक लेल राष्ट्रीय टीम सँ फंड मुहैया नहि कराओल जाएत अछि। 

वाह! सुनीकेँ बहुत ख़ुशी भेल जे अहाँक संस्था के राष्ट्रीय टीम सिर्फ आओर  सिर्फ मिथिलाक धरातल पर काज करैत अछि। आब एक अंतिम सवाल, राष्ट्रीय टीम आओर क्षेत्रीय टीम क' फंड कता सँ आबैत अछि ?

सगुण मिश्र : मैथिल सेवा संस्थान क' जे भी फंड आबैत अछि ओ सिर्फ सदस्यता शुल्क सँ आबैत अछि जे की मासिक 100 टाका, सालाना 1100 टाका अछि। संस्थाक सभ इकाई मिला क' जतेक सदस्य छथि सभक सदस्या शुल्क राष्ट्रीय टीम लग जाएत अछि, क्षेत्रीय टीम किछु काज करबाक लेल आपसी सहयोग (इच्छा अनुसार) सँ फंड एकत्रित करैत अछि। 

मिथिला दैनिक क' समाचार ईमेल द्वारा प्राप्त करि :

Delivered by Mithila Dainik

मिथिला दैनिक (पहिने मैथिल आर मिथिला) टीमकेँ अपन रचनात्मक सुझाव आ टीका-टिप्पणीसँ अवगत कराऊ, पाठक लोकनि एहि जालवृत्तकेँ मैथिलीक सभसँ लोकप्रिय आ सर्वग्राह्य जालवृत्तक स्थान पर बैसेने अछि। अहाँ अपन सुझाव संगहि एहि जालवृत्त पर प्रकाशित करबाक लेल अपन रचना ई-पत्र द्वारा mithiladainik@gmail.com पर सेहो पठा सकैत छी।

 
#zbwid-2f8a1035