0

नयी दिल्ली। 12 जनवरी। बर्ड फ्लू केर आशंका के कारण बंद कायल गेल नेशनल ज्योलोजिकल पार्क लगभग तीन मासक बाद फेर से खुजल। चिडि़याघर केर संरक्षक रियाज खान कहला की चिडि़याघर कैल्ह से दुबारा खुजल। ओनातेँ सभ जगह जएबाक लेल दरबाजा खोलल गेल अछि, मुदा  बतख के तालाब तक प्रवेश निषेध राखल गेल अछि। ऐताधरी कि कर्मचारि सभक वाहन क' सेहो ओता जेबाक अनुमति नहि प्रदान कायल गेल अछि।

अपने के बता दी पिछ्ला बरख अक्तूबर मे एच5एन8 इंफ्लूएंजा के कारण पेलिकन, बत्तख आर पैन मे रहे बला 13 पक्षि सभक मौत के बाद चिडि़याघर क' करीब 84 दिन के लेल बंद क' देल गेल छल। पिछ्ला बरख करीब 46 चितकबरा हिरण मृत पाओल गेल छल। 

संरक्षक रियाज खान कहला कि फेर से पार्क खुजबाक बाद पाहिले दिन  6,020 आगंतुक औला। सप्ताहंत मे आमतौर पर आर बेसी लोगक अएबाक उम्मीद कायल जे रहल अछि। 

चिडि़याघर मे बर्ड फ्लू के बादक तैयारि केर बारे मे पूछे पुच्छल पर अधिकारी कहला कि पशु सभक सुरक्षा केर उपाय तेज क' देल गेल अछि।  ज्ञात हो कि दिल्ली केरचिडि़याघर देश के विशाल चिडि़याघर मे सँ एक अछि। ऐता सालाना करीब 22 लाख आगंतुक आबैत छैथ। 

मिथिला दैनिक क' समाचार ईमेल द्वारा प्राप्त करि :

Delivered by Mithila Dainik

मिथिला दैनिक (पहिने मैथिल आर मिथिला) टीमकेँ अपन रचनात्मक सुझाव आ टीका-टिप्पणीसँ अवगत कराऊ, पाठक लोकनि एहि जालवृत्तकेँ मैथिलीक सभसँ लोकप्रिय आ सर्वग्राह्य जालवृत्तक स्थान पर बैसेने अछि। अहाँ अपन सुझाव संगहि एहि जालवृत्त पर प्रकाशित करबाक लेल अपन रचना ई-पत्र द्वारा mithiladainik@gmail.com पर सेहो पठा सकैत छी।

 
#zbwid-2f8a1035