0
पटना। 30 सितंबर। भारत द्वारा पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइक केर खबर सुनते आतंकी हमला म' कैमूर के शहीद राकेश केर पत्नी किरण केर आँखि पहिल बेर खुशी सँ चमैक उठलैन्ह। अप्पन पति के शहीद भेलाक बाद सँ गुमसुम रहै बाली किरण जोश म' कहली कि भारत एक शहीद केँ बदला हजार आतंकि सभक सिर आनत तखने हम्मर करेजा ठंढा होयत।  आगा ओ कहली कि मोदी जी दुनियां केर नक्शा सँ पाकिस्तान केँ नाम मिटा दी। आतंकवाद सँ मुक्तिक लेल इ एक मात्र उपाय अछि।

किरण भावुक भ' कहली कि जे शहीद देशक काम आयल ओ वापस तेँ नै  अउता, लेकिन पाकिस्तान केँ सफाया सँ हुनका सभक आत्मा क' शांति आर परिजन सभ क' सकून भेटतैन्ह। कैमूर के नुआंव प्रखंड केाड्ढा गांव म' अप्पन सासुर म' भीजल आँखि सँ किरण कहली कि पाकिस्तान सीज फायर केर उल्लंघन कैरते रहैत अछि आर फुइस सेहो बाजैत अछि। भारत सच्चाई केँ राह पर अछि। एखन धरी हिन्दुस्तानी सेना कुनु बड़का देग उठेवा सँ परहेज किये केलक, ई बात हमरा बुझबा म' नै आबैत अछि। सेना क' इ  आक्रमण बहुत पहिने करबाक चाहि रहे।

उरी सेक्टर के आतंकी हमला म' शहीद भेल सुनील कुमार विद्यार्थी केर  पत्नी कहली कि भारत हमला करि सही केलक। हम सब एहि सँ भेलंहु, मुदा हमला म' पाकिस्तानी नागरिक सभक ख्याल राखल जाए। ओहो सब हमरे सभ जोका छैथ। आगा ओ कहली कि हुनका भारत द्वारा कायल गेल हमलाक जानकारी टीवी चैनल भेटलैन्ह। भारत बहुत नीक केलक आर इ हमला आरो होबाक चाही। शहीद केर बेटी आरती कहली कि हमला सही अछि, लेकिन सरकार आतंकि सभ क' जेल म' रखबाक बजाए सीधा फांसी देल करैथ। जाहि सँ एहितरहक घटना दुबारा नै घटे।

उरी हमला म' शहीद भेल भोजपुर जिला के शहीद अशोक केर पत्नी संगीता  पाकिस्तान पर खूब तामस जाहिर केलीह। ओ कहली कि भारतीय सेना दुश्मन सभ सँ चुईन-चुईन क' उरी केर बदला लैथ।पतिक शहादत केँ बाद आय कलेजा ठंढा भेल।  आगा ओ कहली की शुरू भेल जंग एखन खत्म नै करबाक चाही।  भारतीय सेना ताधरि कार्रवाई करे जाधरिदुश्मन देश पाक घुटना नै टेका। दुश्मन सभ क' सबक सिखेबाक लेल जरुरत परल तेँ आर  दुइ - चारि अशोक केर शहादत देबाक लेल तैयार छी। अपने क' बता दी  भारत  सर्जिकल स्ट्राइक म' पाकिस्तान स्थित सात आतंकी ठिकाना  ध्वस्त केलक जाहि म' 38 आतंकवादी मारल गेल। 

मिथिला दैनिक क' समाचार ईमेल द्वारा प्राप्त करि :

Delivered by Mithila Dainik

मिथिला दैनिक (पहिने मैथिल आर मिथिला) टीमकेँ अपन रचनात्मक सुझाव आ टीका-टिप्पणीसँ अवगत कराऊ, पाठक लोकनि एहि जालवृत्तकेँ मैथिलीक सभसँ लोकप्रिय आ सर्वग्राह्य जालवृत्तक स्थान पर बैसेने अछि। अहाँ अपन सुझाव संगहि एहि जालवृत्त पर प्रकाशित करबाक लेल अपन रचना ई-पत्र द्वारा mithiladainik@gmail.com पर सेहो पठा सकैत छी।

 
#zbwid-2f8a1035