0
----- -गणेश वंदना -----
---------------------

गौरीसुत गणपति गणदेवा 
भूपति भुवनपति दुर्जा देवा 

सिद्धिनाथ हे वुद्धि विधाता
विघ्न विनाशक मंगलदाता

लम्बोदर गजबदन गजानन
हे कृपालु नन्दन पंचानन

विद्यावारिधि सिद्धि विनायक
विघ्नहर्ता हे अष्ट विनायक

अक्षत निष्ठा अबाध सेवा
शोक विनाशक मंगल देवा

एकदन्ता पादपंकजा प्रथमेश्वरा
नमामि पीताम्बरा हे देवेश्वरा

जयति वक्रतुंड जय वरप्रदा
दयावन्ता शशि वर्णं सुखप्रदा

----------------------
सादर : महेश डखरामी

मिथिला दैनिक क' समाचार ईमेल द्वारा प्राप्त करि :

Delivered by Mithila Dainik

मिथिला दैनिक (पहिने मैथिल आर मिथिला) टीमकेँ अपन रचनात्मक सुझाव आ टीका-टिप्पणीसँ अवगत कराऊ, पाठक लोकनि एहि जालवृत्तकेँ मैथिलीक सभसँ लोकप्रिय आ सर्वग्राह्य जालवृत्तक स्थान पर बैसेने अछि। अहाँ अपन सुझाव संगहि एहि जालवृत्त पर प्रकाशित करबाक लेल अपन रचना ई-पत्र द्वारा mithiladainik@gmail.com पर सेहो पठा सकैत छी।

 
#zbwid-2f8a1035