0
मिथिला दैनिक पाठकों की सुविधा हेतु प्रतिदिन के करेंट अफेयर्स से सम्बंधित जानकारी को संक्षिप्त रूप में करेंट अफेयर्स सारांश शीर्षक से नए रूप में प्रस्तुत कर रहा है. इसमें दी गयी जानकारी आईएएस, पीसीएस, एसएससी, बैंक, एमबीए और अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है.

पूरे विश्व में 19 मार्च 2016 को ‘पृथ्वी दिवस’ (Earth Hour) मनाया गया. पर्यावरण संरक्षण को समर्पित पृथ्वी दिवस का यह 10वां आयोजन (संस्करण) था. इसे भारतीय समयानुसार, शाम 8.30 बजे से 9.30 बजे तक मनाया गया.
19 मार्च 2016 को मनाये गए पृथ्वी दिवस हेतु भारतीय भारतीय थीम ‘व्यक्तियों और संगठनों द्वारा सौर ऊर्जा के उपयोग को प्रोत्साहित करना’ (encourage usage of solar energy by individuals and organizations) था.
संबंधित मुख्य तथ्य: 
•    पृथ्वी दिवस (अर्थ आवर) वर्ल्ड वाइड फण्ड फॉर नेचर (WWF) नामक एक गैर सरकारी संस्था का अभियान है, जिसका मकसद लोगों को बिजली के महत्व के प्रति और पर्यावरण सुरक्षा के प्रति जागरुक करना है.
•    इसका मुख्यालय सिंगापुर में है.
•    वर्ष 2007 में इसे तब पहचान मिली जब इसने सिडनी में पर्यावरण सुरक्षा का संदेश देने के लिए एक घंटे लाइटें बंद कराई थीं.
•    इसके बाद करीब 162 देशों तक लाइटें बंद करने का ये अभियान फैलता चला गया.
•    अर्थ आवर के आयोजकों के अनुसार, वर्ष 2016 के पृथ्वी दिवस के दिन पूरी दुनिया में रिकॉर्ड 147 देश धरती को बचाने के इस अभियान में शामिल हुए. कुल 5411 शहरों और कस्बों में बिजली बंद रखी गई.
वर्ल्ड वाइड फण्ड फॉर नेचर (WWF)  के बारे में:
वर्ल्ड वाइड फण्ड फॉर नेचर एक ऐसी संस्था है जिसके बारे में कहा जाता है कि ये दुनिया की सबसे बड़ी इंडिपेंडेंट कंन्जरवेशन ऑर्गेनाइजेशन है. 100 से अधिक देशों में 5 मिलियन से अधिक लोग इस संस्था को समर्थन करते हैं. इस संस्था के मुताबिक इसका उद्देश्य प्रकृति के नुकसान को रोकना और मानव भविष्य को बेहतर बनाना है.
भारत में सोलर एनर्जी की स्थिति:
भारतीय सौर ऊर्जा निगम की स्थापना 20 सितम्बर 2011 को हुई थी. इसका उद्देश्य सौर ऊर्जा को बढ़ावा देना है. एक आंकड़े के मुताबिक देश में सौर ऊर्जा का उत्पादन (31.5.2014 की स्थिति के अनुसार) 2647 मेगावाट है.

मिथिला दैनिक क' समाचार ईमेल द्वारा प्राप्त करि :

Delivered by Mithila Dainik

मिथिला दैनिक (पहिने मैथिल आर मिथिला) टीमकेँ अपन रचनात्मक सुझाव आ टीका-टिप्पणीसँ अवगत कराऊ, पाठक लोकनि एहि जालवृत्तकेँ मैथिलीक सभसँ लोकप्रिय आ सर्वग्राह्य जालवृत्तक स्थान पर बैसेने अछि। अहाँ अपन सुझाव संगहि एहि जालवृत्त पर प्रकाशित करबाक लेल अपन रचना ई-पत्र द्वारा mithiladainik@gmail.com पर सेहो पठा सकैत छी।

 
#zbwid-2f8a1035