0


सभ मैथिल आन्दोलनकारी स आग्रह जे अप्पन अप्पन मित्र गन के जोइड का अई आन्दोलन के विशाल बानाबी ताकि भारत सरकार के कान में जू रेंगा ... 

जय मिथिला

10 दिसंबर क दिल्ली धरना लेल 148 अपन उपस्थिति दर्ज करा चुकल चाहती आ 39 संभावित- जे फेस्बूकिया छथि - आन बहुत आबि रहल छथि -अंतर्राष्ट्रीय मैथिलि परिषदक अध्यक्ष डॉ कमलकांत झा दिल्ली पहुंची चुकल छथि- लगैत अछि ई दिल्लीमे होमय बला सबस पैघ धरना एहि हेतु होयत- एहि हेतु युवा वर्गके धन्यवाद लेकिन याद राखी कोनो राष्ट्र निर्माण अनुशासन पसंद कार्यकर्ता द्वारा होइत अछि , बिना कोनो अपेक्षा के जे ओतय किछु अहाँ के भेटत अपन मानसिक तैयारीस आबी - मिथिला -मैथिलीक नाम पर भोज- भात बहुत भय चुकल अछि।

शांतिपूर्ण मिथिलाक गौरवमंयी परम्पराक अनुसार व्यवहार हो -
नारा जरूर जोर स लगाबी" जाबत मिथिला राज्य नहि -
भारतक संविधान पूर्ण नहीं।"" मिथिला राज्य के बनायत- 
भारतक सार्वभौम संसद""
भारत के के बनौलक -
मिथिलाक सीता गार्गी ""
भारत के के बनौलक-
 मिथिलाक ऋषि गौतम कणाद ""
भारत के के बनौलक- 
मिथिलाक गायत्री आ वाल्मिकी।
भारत के के बनौलक-
 मिथिलाक वाचस्पति आ भारती ।
जाबत मिथिला राज्य नही - 
चीनक घुडकी शांत नही 
जाबत मिथिला राज्य नही -
 भारतमे स्थिर सरकार नही-
जाबत मिथिला राज्य नही - 
भारतक स्थिर विकास नही 
 सुसंस्कृत भारतक की पहचान- 
मिथिला राज्य! मिथिला राज्य!!
पूर्णिया हो या चंपारण -
 सब हम छी मिथिलावासी
सहरसा हो या शेखपुरा -
 जल, अन्न स मिथिला पूरा 
सुपौल सेतुस गांधी सेतु -
मिथिला हेतु , मैथिली हेतु!
भागलपुरस मुज़फ्फरपुर-
 माछ, मखान , लीचीस पुर ,
मुंगेर हो या मधुबनी - 
सब हम छी मिथिलावासी ,
 दरभंगा हो या दुमका- 
सब हम छी मिथिलावासी ,
मिथिलावासी-  
भारतवासी - 
 विद्यापति भारतके शान -
 मिथिलाके जं नहि सम्मान - 
होयत माता सीटा क अपमान

Dhanakar  Thakur 

मिथिला दैनिक क' समाचार ईमेल द्वारा प्राप्त करि :

Delivered by Mithila Dainik

मिथिला दैनिक (पहिने मैथिल आर मिथिला) टीमकेँ अपन रचनात्मक सुझाव आ टीका-टिप्पणीसँ अवगत कराऊ, पाठक लोकनि एहि जालवृत्तकेँ मैथिलीक सभसँ लोकप्रिय आ सर्वग्राह्य जालवृत्तक स्थान पर बैसेने अछि। अहाँ अपन सुझाव संगहि एहि जालवृत्त पर प्रकाशित करबाक लेल अपन रचना ई-पत्र द्वारा mithiladainik@gmail.com पर सेहो पठा सकैत छी।

 
#zbwid-2f8a1035