श्रद्धांजलि (कविता)/मनीष झा "बौआभाई" - मिथिला दैनिक

Breaking

गुरुवार, 26 अगस्त 2010

श्रद्धांजलि (कविता)/मनीष झा "बौआभाई"

हम अपन ई रचना अपना देशक नौजवान शहीद के स्वाधीनता दिवस के उपलक्ष्य में समर्पित करैत छी I
नमन करै छी ओहि वीर पुरुष के
जे अपन वीर बलिदान देलन्हि अछि
धन्य थिकी ओहि वीरक जननी
जे जन्म एहेन संतान देलन्हि अछि

प्रबल प्रेम आ नि:स्वार्थक बल पर
तन-मन-प्राण केलन्हि न्यौछावर
श्रद्धा सिंचित पवित्र ह्रदय स'
अंतिम साँस धरि देलन्हि आदर


देश भक्ति में एहेन शक्ति छल
जाहि स' दुश्मन भेल धराशायी
धरती माँ के एहेन सपूत स'
भ' भयत्रस्त परायल अन्यायी

राष्ट्र प्रेम में मग्न ततेक जे
बिसरल माय, बहिन, घरवाली के
रोज विजयपर्वक अभिलाषा में
सुधि रहलै नै छैठ, दिवाली के

रोम-रोम करैत अछि वंदन
क'र जोडि करी पुष्पांजलि
मातृभूमि के हे रक्षक स्वीकारू
मनीषक भावभीनि श्रद्धांजलि

=================================
मनीष झा "बौआभाई"

ई-मेल :manishjhaonline@gmail.com
ब्लॉग : http://manishjha1.blogspot.com/
=================================