कि हमहूँ रहबै बेरोजगार? -मदन कुमार ठाकुर - मिथिला दैनिक

Breaking

मंगलवार, 1 दिसंबर 2009

कि हमहूँ रहबै बेरोजगार? -मदन कुमार ठाकुर

कि हमहूँ रहबै बेरोजगार? ----

खिचरी खायते- खायते समय गमेलो
नही भेटल शिक्षा केर अधिकार ,
बौवा नेना कही घर से प्यार भेटल
नहीं भेटल आँगन बारि केर केंद अधिकार ,,
आब कहू यो एस डी ओ साहिब
कि हमहूँ रहबै बेरोजगार ?

डिग्री लेने गाम सहर सं
भैया हमरो सब कतेक हजार ,
शिक्षक पद के आश में सदिखन
घुमैत फिरैत छैथ हाट बाजार ,,
आब कहू यो नितीश सरकार
कि हमहूँ रहबै बेरोजगार ?

दौरते - दौरते राईत दिन हम
दरभंगा , मधुबनी लोकसभा केर दुवार ,
हारल थाकल घर आबि हम बैसलों
नै मिलल पंचसमिति केर अधिकार ,,
आब कहू यो नेता - मुखिया
की हमहूँ रहबै बेरोजगार ?

दिल्ली में किछ इज्जत अछि बाचल
माहाराष्ट्र सरकार केलक बहार ,
देश दुनिया के खोज खबरी सुनी
मन कहैत अछि, नै छोरू घर- दुवार ,,
आब कहू यो बिहार सरकार
कि हमहूँ रहबै बेरोजगार ?

the end

www.apangaam.blogspot.com
मदन कुमार ठाकुर
ग्राम/पोस्ट- कोठिया पट्टीटोल
ब्लाक - झंझारपुर
जिला - मधुबनी ,
बिहार ( 847404)
mo -91-9312460150

E-mail , madanjagdamba@yahoo.com
madanjagdamba@yahoo.com