1
आदरणीय गजल रसिक जन , हम अपन गजलक ब्लाग " अनचिन्हार आखर" (http://anchinharakharkolkata.blogspot.com) के सामुदायिक ब्लाग बनबए चाहैत छी। एहि संबंध मे अपने लोकनि सुझाव अपेक्षित अछि। केवल ओ लेखक जे गजल, शेर्, रुबाइ, कता आदि लिखथि होथि, ओ एहि ब्लागक लेखक के रुप मे जुड़ि सकैत छथि। एहि ब्लाग पर मात्र गजल, शेर, रुबाइ, कता आदि प्रकाशित कएल जा सकैए, एकर अतिरिक्त गजलक समीक्षा, आलोचना , समालोचना , इतिहास आदि सेहो देल जा सकैए। शायर लेखकक रुप मे जुड़बाक लेल हमर एहि ठेकाना पर संपर्क कए सकैत छथि ashish_anchinhar@yahoo.com वा ashish.anchinhar@gmail.com वा ashish_anchinhar@rediffmail.com सुझावक हरदम स्वागत छैक।

मिथिला दैनिक क' समाचार ईमेल द्वारा प्राप्त करि :

Delivered by Mithila Dainik

मिथिला दैनिक (पहिने मैथिल आर मिथिला) टीमकेँ अपन रचनात्मक सुझाव आ टीका-टिप्पणीसँ अवगत कराऊ, पाठक लोकनि एहि जालवृत्तकेँ मैथिलीक सभसँ लोकप्रिय आ सर्वग्राह्य जालवृत्तक स्थान पर बैसेने अछि। अहाँ अपन सुझाव संगहि एहि जालवृत्त पर प्रकाशित करबाक लेल अपन रचना ई-पत्र द्वारा mithiladainik@gmail.com पर सेहो पठा सकैत छी।

 
#zbwid-2f8a1035