5
2.5. की छि

बच्चा सं पुछियैन त कहै छैथ स्कूल
मुनि सं पुछला पर बुझैत अछि इ त्याग छि !!
माँ कहैत इ जोगिनक छि मन्त्र
भगत कहैत चमुंडा क छि तंत्र
यौ भाई इ मिथिला क भाग्य थिक !!

जत बहैय 2.5 सं प्रेमक गंगा,
पुत्र विद्यापति के घर महादेव मचौलैन दंगा,
स्कूल म पढ़वाला बच्चा कहैत अछि इ प्यार छि !
कॉलेज वाला बजैथ इ त इश्क छि,
यौ भाई इ मिथला विश्व छि !!

मिठगर - मिठगर कर्णप्रिय बोल
थकान क दूर करवाला हवा
लाल - लाल तिलकोर आ
कजराइल कोइलीक बोल

येह चारू मिथलाक अंग थिक
विश्वक बड़का बाबु मिथिलाक संतान थिक
यौ भाई इ मिथिलाक प्राण थिक !!

हमरा मिथिला वासी पर इ य रिक्स
अहि बात के राखी अहिना फिक्स

मिथिला दैनिक क' समाचार ईमेल द्वारा प्राप्त करि :

Delivered by Mithila Dainik

  1. मनीष गौतम15 मई 2009 को 11:55 pm

    कथ्य निक,
    शिल्प सेहो निक ओना कनेक सुधारक गुंजाइश ।

    उत्तर देंहटाएं
  2. नीक कविता मणिकांत जी।

    उत्तर देंहटाएं
  3. Samast Pathak gan ke Manish k taraph sa NAMASKAR, Aaasha je ahina padi k utsukta badh bait rahi.

    उत्तर देंहटाएं

मिथिला दैनिक (पहिने मैथिल आर मिथिला) टीमकेँ अपन रचनात्मक सुझाव आ टीका-टिप्पणीसँ अवगत कराऊ, पाठक लोकनि एहि जालवृत्तकेँ मैथिलीक सभसँ लोकप्रिय आ सर्वग्राह्य जालवृत्तक स्थान पर बैसेने अछि। अहाँ अपन सुझाव संगहि एहि जालवृत्त पर प्रकाशित करबाक लेल अपन रचना ई-पत्र द्वारा mithiladainik@gmail.com पर सेहो पठा सकैत छी।

 
#zbwid-2f8a1035