देशक नाम रोशन कएलि सहरसा के बेटी शारदा भारती - मिथिला दैनिक

Breaking

शुक्रवार, 17 मार्च 2017

देशक नाम रोशन कएलि सहरसा के बेटी शारदा भारती

सहरसा। 17 मार्च। सहरसा के बेटी शारदा भारती केर चयन डबल एमएससी प्लांट प्रोटेक्शन के लेल भेल छैन्ह। शारदा भारती क' आब एमएससी केर  पढ़ाई आओर पीएचडी केर पढ़ाई करबाक लेल जर्मनी आओर इटली भेजल जायत। प्लांट हेल्थ प्रोजेक्ट केर तहत एशिया महादेश मे सिर्फ 15 सीट छल। शारदा भारत सँ चयनित होमै बाली पहिल छात्रा छथि। शारदा अपन एहि सफलता सँ मिथिलांचलक नाम पूरा देश मे रोशन केलन्हि अछि।  

डॉ. राजेंद्र प्रसाद सेंट्रल एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी पूसा सँ स्नातक करबाक बाद शारदा बिहार एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी सबौर सँ मृदा विज्ञान मे स्नातकोत्तर क' रहल छथि। आब यूरोपियन यूनियन इरासमस द्वारा संपोषित प्लांट हेल्थ प्रोजेक्ट के माध्यम केर तहत दुई बरख लेल शारदाकेँ यूनिवर्सिटी ऑफ गोटिगन जर्मनी वा यूनिवर्सिटी ऑफ पड़ोवा इटली भेजल जायत। एहि दुई बरखक अवधि मे पढ़ाई के लेल दुनु यूनिवर्सिटी 49 हजार यूरो शारदाकेँ स्कालरशिप देतैन्ह। संगहि एक-एक मास्टर डिग्री सेहो देतैन्ह। पाठ्यक्रम केर पढ़ाई शुरू करबा सँ पहिने शारदा यूनिवर्सिटी ऑ़फ पॉलिटेक्निशिया डी वेलेंसिया स्पेन जेती। जता हुनका एक सप्ताह ओरिएंटेशन वीक ऑडिट करे परतैन्ह।

शारदा भारती कहली कि हुनकर कृषि क्षेत्र मे बहुत रुचि छैन्ह। नवा रिसर्च के जरिए देश आओर राज्य केर कृषि क' नवा ऊंचाइ पर ल' जायब हुनक मकसद छैन्ह। शारदा सहरसा के वार्ड नंबर 6 अंतगर्त लक्ष्मीनाथ नगर, रिफ्यूजी कॉलोनी निवासी श्रीकृष्ण मोहन झा आओर उषा झा के सुपुत्री छथि। शारदा जवाहर नवोदय विद्यालय सुपौल से 12वीं तक केर पढ़ाई पूरा केना छथि। ओ अपन सफलताक श्रेय अपन माता-पिता आओर अपन  नाना से भेटल सहयोग आओर प्रेरणा के दैत छथि।