0

नई दिल्ली। 27 दिसम्बर। 30 दिसम्बर के समयसीमा समाप्त भेलाक बाद अगर किनको लग 500 आर 1,000 के पुरनका नोट तय सिमासँ बेसी भेटत तेँ हुनका खिलाफ कार्रवाई कायल जे सकैत अछि। ई सिमा 10 नोट केर भ' सकैत अछि। एहेन भेला पर ओहि शख्स केर खिलाफ जुर्माना लगाओल जे सकैत अछि। 

खबर अछि कि सरकार एहि लेल अध्यादेश आनबाक तैयारी मे अछि। ओनाकि एहि बारे मे आधिकारिक तौर पर किछ नहि कहल गेल अछि, लेकिन एकरा कैल्ह बुधवार क' होमै बला कैबिनेट बैठक मे पेश कायल जे सकैत अछि।  

अध्यादेश के जरिया सरकार आर रिजर्व बैंक केर एहेन नोट रखनिहार लोग के हुनकर नोट के दाम देबाक वादा करै बला देनदारी क' समाप्त कायल जे सकैत अछि। 1978 मे मोरारजी देसाई केर जनता पार्टी सरकार  1,000, 5000 आर 10,000 के नोट बंद करबाक बाद एहि तरहक अध्यादेश जारी केना छल। उल्लेखनीय अछि कि पुरनका नोट क' बैंक मे जमा करबाक अंतिम तारीख 30 दिसम्बर तक अछि। ओनाकि 31 मार्च 2017 तक आरबीआई के काउंटर पर पुरनका नोट सीधे जमा कराओल जे सकैत अछि। 

मिथिला दैनिक क' समाचार ईमेल द्वारा प्राप्त करि :

Delivered by Mithila Dainik

मिथिला दैनिक (पहिने मैथिल आर मिथिला) टीमकेँ अपन रचनात्मक सुझाव आ टीका-टिप्पणीसँ अवगत कराऊ, पाठक लोकनि एहि जालवृत्तकेँ मैथिलीक सभसँ लोकप्रिय आ सर्वग्राह्य जालवृत्तक स्थान पर बैसेने अछि। अहाँ अपन सुझाव संगहि एहि जालवृत्त पर प्रकाशित करबाक लेल अपन रचना ई-पत्र द्वारा mithiladainik@gmail.com पर सेहो पठा सकैत छी।

 
#zbwid-2f8a1035