0
~ कने एक रत्ती चाहक पात बरकबितहु ! हे कने ठोर पकाउ ने

~ इ मनसा कोनो काज - राज करत नहि आ आँगन आयत तऽ देह डाहय बला गप सब करैत रहत !

~ हउ ने तमसाइत किआक छी एतेक ? नहि दूध मऽ हेतय तऽ कने बाड़ी बला कागजी नेबो गाड़ि देबय !

~ जाउ'क ने कने बारी , नेबो खायताह नेबो'क पात तऽ छूबहे नहि देतहि !

~ से किआ हमरहि रोपल नेबो आ हमरहि नहि तोरऽ देत ?
~ किआ'क तोरऽ देतैक अपन रहतै तखन ने तोरऽ देतहि ? रोपने कि गाछ भऽ जाइत छैइक ?

~ तखन हम पूछय छियैक हमर बाप - बाबा'क पुस्तैनी छी ओ बाड़ी तखन के नहि तोरऽ देतहि ?

~ दोसर के नहि तोरह देतहि ? दोसर कैऽ कोन काज छय ओहि संऽ ?

~ तखन के नहि एकरा बाड़ी जाय दैइत छैइक ?

~ आर के दियर - देआदनि ! कहैत छहि जे हम जे एतैक दिन संऽ घर मे खर्चा केलिएहि तकर बदला मे ओ बाड़ी लेलिएहि ! आ कहैत छलहि जखन ओहि पाय'क फाँट हमरा देत तखनहि हम बारी जाय देबैक अन्यथा नहि !

~ आ हम जे ओकरा पढ़ा - लिखा कऽ मनुख्ख मनेलिएहि से ?

~ तकर कोनो मान नहि ओ नगद खर्च केने छहि सझिया घर मे !

~ जाहि भाईयक खातिर खून - पसीना एक केलहु से भाई एहन भऽ गेेल ?

~ आओर काज राज छोड़ि कऽ दनाने - दनाने अपन भाई'यक बड़ाई छटने ने फिरउ - - - - -


वी०सी०झा"बमबम"
                                कैथिनियाँ

मिथिला दैनिक क' समाचार ईमेल द्वारा प्राप्त करि :

Delivered by Mithila Dainik

मिथिला दैनिक (पहिने मैथिल आर मिथिला) टीमकेँ अपन रचनात्मक सुझाव आ टीका-टिप्पणीसँ अवगत कराऊ, पाठक लोकनि एहि जालवृत्तकेँ मैथिलीक सभसँ लोकप्रिय आ सर्वग्राह्य जालवृत्तक स्थान पर बैसेने अछि। अहाँ अपन सुझाव संगहि एहि जालवृत्त पर प्रकाशित करबाक लेल अपन रचना ई-पत्र द्वारा mithiladainik@gmail.com पर सेहो पठा सकैत छी।

 
#zbwid-2f8a1035