1
हेलउ हेलउ! 
 आउ मिथिलाके दोकान पर!                                                                                                       मैथिल के मचान पर!

एतय हिन्दी के माल भेटत!
अंग्रेजिया कमाल भेटत!
परदेशिया वयार भेटत!
जीबैय के कपार भेटत!
हेलउ हेलउ! आउ मिथिलाके दोकान पर!
बाबा जडला बाबु जडला!
बाबी माय सेहो जडली!
काका-मामा छूटिये गेला!
नानी-मौसी रुडिये गेली!
अंकल-आन्टी फूल भेटत!
ब्रदर-सिस्टर कूल भेटत!!
हेलउ हेलउ! आउ मिथिला के दोकान पर!
मैथिल छप्पर उडिये गेल!
धोती-पाग बुयिरिये गेल!
कुम्हर-कदिमा चार सडेल!
सजमैन-बतिया कीडा लगेल!
टटका-टटका टोमैटो भेटत!
अगबे आब पोटैटो भेटत!
हेलउ हेलउ! आउ मिथिला के दोकान पर!
मेल-मिलाप बलाने बहल!
लोक-लोकके आँखि गडल!
जाति-कूजाति दलाने छूटल!
देह कि आब तऽ मने छूवल!
ऐँठ हाथ पोछय लेल भेटत!
पैनछूआके पोछ-पेपर भेटत!
हेलउ हेलउ! आउ मिथिला के दोकान पर!
गोलही काँटी मारा पोठी,
भौंड बुआर भून्ना मोठी,
बाढिक पानिमें नवका माछ,
सभ परायल जेना काउछ,
विकासी विकेट भेटत,
मुँहफूल्लाके सेट भेटत,
हेलउ हेलउ! आउ मिथिला के दोकान पर!
गौँआँ मैनजन बिकिये गेल!
सरपंचक आब नहिये ठेल!
जनसेवक आ विडियोक रेल!
मुखिया सबटा खाएये गेल!
चमचा-बेलचा कमाल भेटत!
भरुवा-दलालक जाल भेटत!
हेलउ हेलउ! आउ मिथिला के दलान पर!
पुरना मिथिला आब कतय?
अपन संस्कार आब कतय?
लिपि-भाषा मरिये गेल!
कुतबा बच्चा हिन्दी खेल!
जाबत रहत बिहारी राज!
आयत कोना मिथिलाके राज!
हेलउ हेलउ! आउ मिथिला के दोकान पर!

मिथिला दैनिक क' समाचार ईमेल द्वारा प्राप्त करि :

Delivered by Mithila Dainik

  1. खूब नीक प्रयास। बधाइ। अहाँक बिना अनुमति केँ हम एकरा फ़ेसबूक पर शेयर क’ लेलहुँ।

    उत्तर देंहटाएं

मिथिला दैनिक (पहिने मैथिल आर मिथिला) टीमकेँ अपन रचनात्मक सुझाव आ टीका-टिप्पणीसँ अवगत कराऊ, पाठक लोकनि एहि जालवृत्तकेँ मैथिलीक सभसँ लोकप्रिय आ सर्वग्राह्य जालवृत्तक स्थान पर बैसेने अछि। अहाँ अपन सुझाव संगहि एहि जालवृत्त पर प्रकाशित करबाक लेल अपन रचना ई-पत्र द्वारा mithiladainik@gmail.com पर सेहो पठा सकैत छी।

 
#zbwid-2f8a1035