गद्य कविता - मिथिला दैनिक

Breaking

मंगलवार, 25 दिसंबर 2012

गद्य कविता


एकटा गद्य कविता

शङ्का


शङ्का तीन प्रकारक होइत छै,
लघु शङ्का
दीर्घ शङ्का
अस्तित्व शङ्का

अहाँ कोन शङ्कासँ ग्रस्त छी ??????