0


अखिल भारतीय मिथिला संघक तत्वावधान मे आयोजित मिथिला विभूति स्मृति पर्व समारोह - २०१२ के सफल बनेबाक हेतू कोटि - कोटि धन्यवाद...कार्यक्रम अत्यंत सफल रहल. श्रीमति शीला दीक्षित, मुख्यमंत्री दिल्ली, श्री प्रभात झा, राज्य सभा सांसद, श्री महाबळ मिश्र सांसद दिल्ली, श्री गौरी शंकर राजहंस, पूर्व सांसद, डॉक्टर एस सी एल गुप्ता, विधायक , श्री अनिल कुमार शर्मा सी एम डी आम्रपाली समूह, श्रीमति पूनम झा आजाद, डॉक्टर संजीव मिश्र आदिक गरिमामयी उपस्थिति रहल. स्वागताध्यक्ष डॉक्टर संजीव मिश्र के मिथिला वर्णन आ मिथिला शब्द विन्यास के अर्थ वास्तव मे अतुलनीय, रोचक आ ज्ञान वर्धक छल... 
 मुख्य मंत्री बजलीह जे मिथिला के लोकक कारण स दिल्ली बेसी सुंदर आ संवारल लागैत छैक. ओ ईहो बजलीह जे हुनको मैथिली भाषा बड्ड निक लागैत छैन....श्री प्रभात बाबू गाम स जुरल राह्बा पार जोर देलाह आ संगही हुनका स प्रेरणा भेटल जे एकटा सामान्य व्यक्ति केना अप्पन योग्यता आ नीक विचार के बल पर कतौ अप्पन स्थान बना सकैत अछि, हमरा सभ मैथिलक लेल प्रेरणा श्रोत अछि. 
श्री अनिल कुमार शर्मा जी आम्रपाली समूह के सी एम् डी, कहलाह जे मिथिला भवन के निर्माण में अप्पन पूरा सहयोग देताह, डॉ एस सी एल गुप्ता विधायक संगम विहार सेहो विश्वास दियेलाह जे ओ श्री अनिल कुमार शर्मा जीक संग मिथिला भवनक निर्माण में सहयोग करताह. श्री गौरी शंकर राजहंस जी, श्री राम कुमार झा एवं श्रीमति पूनम झा आज़ाद के संबोधन सेहो अनुकरणीय छल. 

मिथिला के किछु गणमान्य व्यक्तित्व के मिथिला विभूति सम्मान स' सम्मानित कयल गेल. आ नव निर्वाचित मैथिल पार्षद के सेहो सम्मानित कयल गेल.  
सभ अतिथि के मखान, पाग, दुपट्टा, पुष्प-हार आदि स स्वागत कयल गेलनि.  
अतिथि सभक संबोधन में विलम्ब होयबाक कारण स रंगारंग कायर्क्रम सेहो विलम्ब स प्रारम्भ भेल परिणामस्वरूप कतेको कलाकार अप्पन प्रस्तुति देबा स वंचित रहलाह परन्तु ३ घंटा के लगभग जे कार्यक्रम चलल से झम्कौआ छल. बहुत श्रोता लोकनि के चल गेला तक कार्यक्रम चलैत रहल आ बादक से कार्यक्रम छल से वास्तव में सुने आ देखे वाला छल. मुख्य कलाकार में छलाह/छलीह : श्री विपिन मिश्र, श्री पवन नारायण झा, श्री अमोध झा, श्री मिथिलेश झा, श्री सुनील पवनजी, श्रीमती रश्मिरानी, कुमारी अंशुमाला, कुमारी जुली झा, श्री सुधानंद झा आदि...  
कुल मिला क अपने सबहक सयहोग आ आशीर्वाद स कार्यक्रम सफल रहल. अपने सबहक अहिना समर्थन रहत त अप्पन मिथिला आ मैथिली के दशा आ दिशा भेटत जाहि सा अप्पन सबहक पहचान विशिष्ट होयत.  
सतत एही अभिलाषाक संग अपनेक  

अखिल भारतीय मिथिला संघ
चित्र श्री अमरनाथ झा
























Amarnath Jha with arvind paswanji and roshan ji...
























Shubh Narayan Jha











Delhi Chief Minister Shaeila Dikshit




























Add caption












































































अखिल भारतीय मिथिला संघक तत्वावधान मे आयोजित मिथिला विभूति स्मृति पर्व समारोह - २०१२
कार्यक्रमक रूप रेखा 
२० मई २०१२, ४ बजे अपराह्न स' रात्रि १० बजे तक मावलंकर सभागार, रफ़ी मार्ग, नई दिल्ली

४.०० बजे : मुख्य एवं विशिष्ट अतिथि सभक आगमन
 ४.०५ बजे : कार्यक्रम के प्रस्तावना
 ४.१० बजे : मंगलाचरण एवं भगवती वंदना (जय जय भैरवी.....)
४,१५ बजे : दीप प्रज्ज्वलन सभ अतिथि द्वारा
४.२१ बजे : कवि कोकिल विद्यापति के चित्र पर माल्यार्पण
 ४.३० बजे : स्वागताध्यक्ष द्वारा स्वागत भाषण
 ४.३५ बजे : महासचिवक प्रतिवेदन
४.४० बजे : भाषण- श्री हुक्र्मदेव नारायण यादव, सांसद
४.४५ बजे : भाषण- श्री कीर्ति झा आज़ाद, सांसद
 ४.५० बजे : भाषण - श्री महाबल मिश्र, सांसद
४.५५ बजे : भाषण - डॉ गौरी शंकर राजहंस, पूर्व सांसद एवं राजदूत
५.०० बजे : भाषण - श्रीमति मृदुला सिन्हा, पांचवां स्तम्भ
५.०५ बजे : भाषण - डॉ निशिकांत ठाकुर, दैनिक जागरण
५.१० बजे : भाषण - डॉ अनिल कुमार शर्मा, सी एम डी, आम्रपाली समूह
५.१५ बजे : भाषण - डॉ एस सी एल गुप्ता, विधायक, दिल्ली
 ५.२० बजे : भाषण - श्री अनिल झा, विधायक, दिल्ली
 ५.२५ बजे : उदघाटन भाषण - डॉ प्रभात झा, अध्यक्ष, मध्यप्रदेश बीजेपी, एवं राज्य सभा सदस्य
 ५. ३५ बजे: सम्मान समारोह- श्रीमति शीला दीक्षित, मुख्यमंत्री दिल्ली
६.०० बजे स' : रंगारंग कार्यक्रम
१०.०० बजे: धन्यवाद ज्ञापन
१०.०५ बजे : कार्यक्रम के समाप्ति


अखिल भारतीय मिथिला संघक तत्वावधान मे आयोजित मिथिला विभूति स्मृति पर्व समारोह - २०१२

२० मई २०१२ क प्रस्ताव
१. दिल्ली में मैथिली अकादमी के अलग/स्वतंत्र कायल जाय
२. मैथिली पत्र- पत्रिका द्वारा मिथिली साहित्यक विकास हो
३. दिल्ली विश्वविद्यालय एवं जवाहर लाल नेहरु विश्वविद्यालय मे मैथिली संभाग के स्थापना
४. बाबा नागार्जुन, स्व. भोला पासवान शास्त्री एवं अमर शहीद स्व. ललित नारायण मिश्र के नाम पर दिल्ली में सड़कक नामकरण
५. भारत सरकारक प्रत्येक मंत्रालय में मिथिली पत्र-पत्रिका के खरीद हेतु प्रावधान हो
६. दूरदर्शन एवं आकाशवाणी में मैथिली संभाग के गठन ७. भारतीय मुद्रा (करेंसी नोट) मिथिलाक्षर मे रूपया (टाका) लिखल जाय.
८. दिल्ली -जयनगर दुरंतो एक्सप्रेस ट्रेन चलोल जाय.
९. मिथिला के प्रत्येक रेलवे स्टेशन पर मिथिलाक्षर मे स्टेशन के नाम लिखल जाय.

आमंत्रण-पत्र



मिथिला दैनिक क' समाचार ईमेल द्वारा प्राप्त करि :

Delivered by Mithila Dainik

मिथिला दैनिक (पहिने मैथिल आर मिथिला) टीमकेँ अपन रचनात्मक सुझाव आ टीका-टिप्पणीसँ अवगत कराऊ, पाठक लोकनि एहि जालवृत्तकेँ मैथिलीक सभसँ लोकप्रिय आ सर्वग्राह्य जालवृत्तक स्थान पर बैसेने अछि। अहाँ अपन सुझाव संगहि एहि जालवृत्त पर प्रकाशित करबाक लेल अपन रचना ई-पत्र द्वारा mithiladainik@gmail.com पर सेहो पठा सकैत छी।

 
#zbwid-2f8a1035