गाम आबि जाउ - मिथिला दैनिक

Breaking

शुक्रवार, 11 फ़रवरी 2011

गाम आबि जाउ

बसंतक आगमन भेल अछि ,
धानक सीस जेना आमक मज्जर ,
फगुआ सेहो लकचियागेल ,
हम त कहब !!!
अहि बेर छुट्टीमे गाम आबि जाउ ,
दालान पर कोटपिस आ २८ खेलब ,
आ संगे मालदह आ किसुन्भोग क स्वाद ,
सहर मैं त कारबिदेक गंद सुन संतोस कर परत ,
आ बिसेस इ जे !!!!!!
कनिया काकी बाट तकैत तकैत नोरा गेली ,
तैं गाम आबी जाऊ !!!!!!!
***स स्नेह .....विकाश झा **