0

नई दिल्ली। 09 फरवरी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नोटबंदी के विरोध करबा पर कैल्ह बुधवार दिन कांग्रेस पर हमला केलैन्ह। राष्ट्रपति के अभिभाषण पर आनल गेल धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा केर राज्यसभा मे जवाब दैत नरेंद्र मोदी पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह क' सेहो निशाना पर लेलैन्ह। 

नरेंद्र मोदी कहलनि कि मनमोहन सिंह करीब 35 साल तक देशक इकॉनमी के केंद्र मे रहला। एहि दौरान एक के बाद एक कैको बड़का घोटाला भेल, मुदा हुनका (मनमोहन) पर एको गोट दाग आयल। बाथरूम मे रेनकोट पहिर नहेबाक कला ते मनमोहन जी जानैत छैथ। मोदी के एहि  बयान पर खूब हंगामा भेल। कांग्रेस सदस्य सभ वॉकआउट क' देलैन्ह। बाद मे, कांग्रेसी नेता लोकनि पीएम से माफी मांगबाक मांग केलैन्ह।

अपने के बता दी, मनमोहन सिंह नवंबर मे संसद मे नोटबंदी के कड़ा विरोध केना छला। ओ कहने छला कि नोटबंदी क' जाहि तरहे लागू कायल गेल अछि, ओ ऐतिहासिक कुप्रबंधन अछि। ई संगठित आ कानूनी लूटक उदाहरण अछि। जाहि पर मोदी कैल्ह कांग्रेस पर निशाना साधैत कहलनि कि हर बात के विरोध ठीक नहि अछि। कांग्रेस कुनु भी रूप मे हार स्वीकार नहि करे चाहैत अछि। ई कहिया धरी चलत। 

नरेंद्र मोदी कहलनि कि ईमानदार सभके ताकत देब आ बेईमान सभक खिलाफ कार्रवाई वक्त केर जरूरत अछि। नोटबंदी कुनु दलक खिलाफ नहि अछि। ई ईमानदार लोग सभके ताकत देबाक लेल उठाओल गेल डेग अछि। नरेंद्र मोदी सवाल केलैन्ह कि हम कहिया धरी सभ किछ कारपेट के नीचा नुकेबाक नीति पर चलैत रहब ? मोदी पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी पर सेहो निशाना साधलैन्ह। ओ कहलनि कि इंदिरा जखन प्रधानमंत्री छली, ओहि समय काला धन केर खिलाफ वांचू कमिटी बनाओल गेल छल। ओ  कमिटी नोटबंदी केर सिफारिश केना छल, लेकिन इंदिरा रिपोर्ट क' ई कहैत दबा देली कि हमरो तेँ चुनाव लड़बाक अछि। इंदिरा के समय टॉप आईएएस अफसर रहल माधव गोड़बोले के किताब मे ई सब अंकित अछि। 
मोदी नोटबंदी के फायदा गनबैत कहलनि कि नोटबंदी से आतंकवादी आर नक्सली गतिविधि सभमे कमी आयल अछि। नोटबंदी के बाद 700 से बेसी नक्सली सरेंडर क' चुकल छैथ। एहेन पहिल बेर भेल अछि। 

मिथिला दैनिक क' समाचार ईमेल द्वारा प्राप्त करि :

Delivered by Mithila Dainik

मिथिला दैनिक (पहिने मैथिल आर मिथिला) टीमकेँ अपन रचनात्मक सुझाव आ टीका-टिप्पणीसँ अवगत कराऊ, पाठक लोकनि एहि जालवृत्तकेँ मैथिलीक सभसँ लोकप्रिय आ सर्वग्राह्य जालवृत्तक स्थान पर बैसेने अछि। अहाँ अपन सुझाव संगहि एहि जालवृत्त पर प्रकाशित करबाक लेल अपन रचना ई-पत्र द्वारा mithiladainik@gmail.com पर सेहो पठा सकैत छी।

 
#zbwid-2f8a1035