अप्पन सफाई कर्मी के बैंक बनेलैन्ह करोड़पति, आयकर विभाग से भेटल नोटिस के बाद भेल खुलासा - मिथिला दैनिक

Breaking

शनिवार, 21 जनवरी 2017

अप्पन सफाई कर्मी के बैंक बनेलैन्ह करोड़पति, आयकर विभाग से भेटल नोटिस के बाद भेल खुलासा

पूर्णिया। 21 जनवरी। पूर्णिया जिला के सहायक खजांची थाना क्षेत्र के भट्ठा बाजार स्थित आईसीआईसीआई बैंक में कैल्ह शुक्रवार दिन एहि  घटना के प्रकाश मे अएलाक बाद गहमा-गहमी शुरू भ' गेल अछि। दरअसल एहि बैंक के सफाई कर्मी विक्की मल्लिक के नाम से बनल 2 फर्जी खाता से करोड़ों टाका केर जमा आर निकासी के मामला सामना आयल अछि।

आइसीआइसीआइ बैंक कालीबाड़ी भट्टा बाजार शाखा के सफाई कर्मी विक्की मल्लिक के बैंक खाता से 15 करोड़ टाका के लेनदेन भेलन्हि अछि। ई मामला प्रकाश मे तखन आयल जखन वित्तीय वर्ष 2012-13 एवं 2013-14 मे करोड़ों के लेनदेन करबाक लेल आयकर विभाग खाताधारक सफाई कर्मी मल्लिक क' नोटिस भेजलन्हि।

खाताधारक मल्लिक केर कहब छैन्ह कि नोटिस देख ओ  दंग रही गेला कि हुंकार 2 बैंक खाता बैंक मे अछि आर एक खाता मे करोड़ों के लेनदेन कायल गेल अछि। पूर्णिया के सहवान टोला विकास बाजार निवासी विक्की मल्लिक एहि बैंक मे 2012 मे सफाई कर्मी के पद पर काज शुरू कएलन्हि। जाहिक एवज मे हुनका बैंक द्वारा 5500 टाका मानदेय देल जायत अछि। 

एहि बैंक मे विक्की मल्लिक एक बैंक खाता 071201502794 खुजेलन्हि लेकिन ऐहिक बाद फेर बैंक मे दोसर बैंक खाता संख्या 071208500457 खोलल गेल। ई दोसर बैंक खाता 26 मार्च 2012 दिन खोलल गेल आर फेर एहि खाता मे करोड़ों के लेनदेन भेल। एहि खाता मे 10 दिसम्बर 2012 दिन 4 करोड़, 16 जनवरी 2013 दिन 9. 85 लाख, 17 जनवरी दिन 18 लाख आर 21 फरवरी 2013 दिन 40 लाख टाका जमा कराओल गेल छल। 
ऐहिक अलावा एहि खाता से कैको बेर मोट रकम केर निकासी सेहो कायल गेल छल। एहि खाता मे बैंक ड्राफ्ट एवं आरटीजीएस केर माध्यम से सेहो  कैको बेर बड़का रकम भेजल गेल छल। ओतहिविक्की कहला कि ओ एक खाता छोइर, दोसरखाता नहि खुजेलन्हि अछि। पुलिस अप्पन स्तर से ऐहि मामला के जांच शुरू क' देलन्हि अछि। ओतहि बैंक प्रबंधक एहि मामला मे किछ भी बतेबाक लेल राजी नहि भेला।