0

विषहरि गीत
@@@@@@
नाग पंचमी के विषहरि दर्शन देल
राम दूध लावा संग हम हुनका पूजल -२
गहुमन धामन ढोंढ़ ओ हरहारा
राम सबके जे पूजन होय घरे घरा -२
धिया पुता जानि विषहर छमा करू
राम सब मिलि मानव के रक्षा करू -२
बिशुन भगवान केर शेष आसन
राम महादेव कैलिन माला धारण -२
कल जोड़ि आहे विषहरि मणि अछि ठाढ़
राम पुत्र जानि आब बेरा करियै पार ।।
- मणिकांत झा , दरभंगा
नागपंचमी , ०७-०८-१६ ।



मिथिला दैनिक क' समाचार ईमेल द्वारा प्राप्त करि :

Delivered by Mithila Dainik

मिथिला दैनिक (पहिने मैथिल आर मिथिला) टीमकेँ अपन रचनात्मक सुझाव आ टीका-टिप्पणीसँ अवगत कराऊ, पाठक लोकनि एहि जालवृत्तकेँ मैथिलीक सभसँ लोकप्रिय आ सर्वग्राह्य जालवृत्तक स्थान पर बैसेने अछि। अहाँ अपन सुझाव संगहि एहि जालवृत्त पर प्रकाशित करबाक लेल अपन रचना ई-पत्र द्वारा mithiladainik@gmail.com पर सेहो पठा सकैत छी।

 
#zbwid-2f8a1035