0

वर्खा'क बून्न खसनाय शूरु कि भेलय !
आ एमहर बाट सब सेहो खूब घिनेलय !!

कतबहु चलबहु ने सरकार स्वक्षता अभियान !
ताहि सँऽ कि लोक'क आदति बदलि गेलय !!

ओना लोको सब मजबूरी मे कि करतहि ?
खेत - पथार गाछी-विर्छी पानि संऽ भरलहि !!

हँ सरकारी शौचालय कतेको ठाम बनाओल गेलय !
परंच ओकर सीट तऽ टूटि कऽ हॉदे मऽ चलि गेलय !!

नेना-भूटका सबहक कोन कथा दिने मे बैसत कतार लगा !
सियनका सब तऽ "बमबम" तरगरे बाट दिस संऽ भ एलय !!


     वी०सी०झा"बमबम"
                                     कैथिनियाँ

मिथिला दैनिक क' समाचार ईमेल द्वारा प्राप्त करि :

Delivered by Mithila Dainik

मिथिला दैनिक (पहिने मैथिल आर मिथिला) टीमकेँ अपन रचनात्मक सुझाव आ टीका-टिप्पणीसँ अवगत कराऊ, पाठक लोकनि एहि जालवृत्तकेँ मैथिलीक सभसँ लोकप्रिय आ सर्वग्राह्य जालवृत्तक स्थान पर बैसेने अछि। अहाँ अपन सुझाव संगहि एहि जालवृत्त पर प्रकाशित करबाक लेल अपन रचना ई-पत्र द्वारा mithiladainik@gmail.com पर सेहो पठा सकैत छी।

 
#zbwid-2f8a1035